आधी रात को शव पहुंचा पैतृक आवास, अंतिम संस्कार करने से परिवार का इन्कार

 

सीतापुर। हिंदू महासभा के उत्तर प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष व हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी (50) की शुक्रवार को नृशंस हत्या कर दी गई। अंतिम संस्कार के लिए कमलेश तिवारी का पार्थिव शरीर बीती देर रात उनके पैतृक आवास सीतापुर स्थित महमूदाबाद कस्बे लाया गया। सुरक्षा की दृष्टि से लखनऊ के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा खुद मृतक कमलेश के परिवारीजनों को सीतापुर सीमा तक पहुंचने आए।

भारी सुरक्षा बल के साथ शव महमूदाबाद आवास पर रखा गया है। देर रात से ही लोगों की भीड़ जमा रही। वहीं, परिवार जन ने मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर को लेकर अंतिम संस्कार करने से इन्कार कर दिया है। परिवार को समझाने के लिए शनिवार सुबह सीतापुर डीएम अखिलेश तिवारी व एसपी एलआर कुमार आवास पर पहुंचे, लेकिन उनकी कोशिश भी विफल रही। वहीं, कुर्सी से भाजपा विधायक साकेंद्र वर्मा परिवार से मिलने पहुंचे। स्थिति का हवाला देते हुए डीएम ने उन्हें बैरंग लौटा दिया।

ख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़े 

कमलेश तिवारी का घर जिले स्थित महमूदाबाद कस्बे में है। इस वजह से अंत्येष्टि के लिए शव महमूदाबाद ले जाया गया। जिसके चलते महमूदाबाद कस्बे में सुरक्षा चाक चौबंद कर दी गई है। वहीं, घर पहुंचने के बाद कमलेश के परिवार जन ने शव को जबरदस्ती महमूदाबाद भेजने का आरोप लगाया। परिवार जन अंतिम संस्कार करने से भी इन्कार कर रहे हैं। वे मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़े हैं। यही नहीं, इस घटना में सीतापुर के महमूदाबाद के निवासी भाजपा नेता शिव कुमार गुप्ता पर भी हत्या का आरोप परिवार जन ने लगाया है। इसके पीछे जमीनी रंजिश बताई गई है।

हत्या कायराना हरकत, 15 दिनों में प्रदेश में बढ़ीं हत्याएं : सपा विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा 

वहीं, मामले में संवेदना व्यक्त करने महमूदाबाद क्षेत्र से सपा विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा भी मृतक कमलेश के घर पहुंचे। विधायक ने कहा कि जो लोग लोकतंत्र में विश्वास नहीं रखते यह घटना उनकी हमलावरों की कायराना हरकत है। उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने औरैया, झांसी, बदायूं और प्रयागराज में हुई घटनाओं का हवाला देकर पिछले 15 दिन में प्रदेश में हत्याओं का ग्राफ बढऩे की बात भी कही। उन्होंने कहा कि सरकार को परिवार की जायज मांगों को मानना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *