मथुरा में विदेशी महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में दो गिरफ्तार

gang-rape

मथुरा। भगवान कृष्ण की नगरी मथुरा में कल विदेशी महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। इनमें एक गाइड भी है। दक्षिण अफ्रीका से महिला मथुरा में मंदिरों का दर्शन करने के लिए तीन दिन पहले आई थी। कल गाइड मोनू तथा एक अन्य ने सामूहिक दुष्कर्म किया। इस मामले में पुलिस ने आज दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। पीडि़त की सहेली ने थाना महावन में रात को दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस इस घटना को सामूहिक दुष्कर्म मान जांच कर रही है। मथुरा पुलिस के अनुसार सामूहिक दुष्कर्म डैंपियर नगर के एक ब्यूटी पार्लर में हुआ। पुलिस सुबह पीडि़त को मेडिकल कराने ले गई, परंतु तब युवती ने घटना से इन्कार कर दिया।

दो दिनी टूरिस्ट वीजा पर मथुरा-वृंदावन घूमने आई भारतीय मूल की दक्षिण अफ्रीका निवासी युवती से टेंपो चालक व गाइड ने सामूहिक दुष्कर्म किया। रविवार सुबह युवती और उसकी सहेली जन्मभूमि के दर्शन के बाद ऑटो कर कथित गाइड के साथ गोकुल गईं। मथुरा लौटते समय युवती ने गाइड से मसाज कराने की इच्छा जाहिर की। गाइड उन्हें डैंपियर नगर के लोटस पार्लर ले आया। यहां युवती के साथ आई महिला को बाहर बैठा दिया। युवती को कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ देने के बाद बेसुध होने पर सामूहिक दुष्कर्म किया। कल सीओ महावन प्रबल प्रताप, थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह महिला पुलिस कर्मियों के साथ युवती का मेडिकल कराने महिला जिला अस्पताल लाए। यहां युवती ने मेडिकल कराने से इन्कार कर दिया। युवती ने पुलिस को लिखकर दिया है कि हमारे देश में छूने को भी दुष्कर्म का प्रयास माना जाता है।

एसपी सिटी श्रवण कुमार ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज में युवती लोटस पार्लर में जाती दिख रही है। इस आधार पर पूछताछ के लिए पार्लर मालिक विष्णु व लक्ष्मीनगर निवासी मोनू को हिरासत में लिया है। पुलिस जांच कर रही है।

एनआरआइ युवती से सामूहिक दुष्कर्म के मामले को लेकर कल पुलिस ने श्रीकृष्ण जन्म भूमि पर लगे सीसीटीवी खंगाले और लपकों की फोटोग्राफी भी कराई गई। एक दर्जन से अधिक लपका भी पुलिस ने हिरासत में लिए हैं। उनसे भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस को पूछताछ में कई अहम सुराग मिले हैं। भारतीय मूल की दक्षिण अफ्रीका की युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज करने के बाद पीडि़ता अपने बयान से भले ही मुकर रही हैं, लेकिन पुलिस इस मामले की गहनता से तहकीकात कर असलियत तक पहुंचने की कोशिश में लग गई। पीडि़ता श्रीकृष्ण जन्मभूमि से दर्शन करके गोकुल की एक गाइड और ऑटो चालक के साथ निकली थी। पुलिस ने भी अपनी जांच भी यहीं से शुरू की। इसके लिए पुलिस ने श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर लगे सीसीटीवी खंगाले। सीसीटीवी में पुलिस को युवती और साथी महिला के आने की जानकारी हाथ लगी है। जिसे पीडि़ता अपनी आंटी कहकर जिला अस्पताल में पुकार रही थी। पुलिस ने श्रीकृष्ण जन्मभूमि के आसपास खुद को पंडा व गाइड बताने वाले लपकों की भी फोटोग्राफी कराई है। इसके पीछे यह माना जा रहा है कि पुलिस पीडि़ता को फोटो दिखाकर असली दोषियों को चिन्हित करने की कोशिश में लग गई है।

गोविंदनगर इंस्पेक्टर बैजनाथ सिंह ने बताया कि थाना महावन क्षेत्र में एनआरआइ महिला के साथ हुई घटना को लेकर सीसीटीवी देखे गए हैं। लपकों से भी पूछताछ की जा रही है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*